जानें आखिर अंकित की शोकसभा से क्यूँ भाग खड़े हुए अरविन्द केजरीवाल !

कपिल मिश्रा ने ट्वीट कर एक विडियो जारी किया है जिसमे मुख्यमंत्री केजरीवाल अंकित सक्सेना के शोक सभा से उठ खड़े हुए और वापस जाते दिखे. कपिल मिश्रा ने केजरीवाल के व्यव्हार तथा अंकित के परिवार के साथ किये जा रहे दोहरेपन पर कड़ी आपत्ति जताई है.

0
2093

नई दिल्ली: दिल्‍ली के रघुवीर नगर में 23 साल के फोटोग्राफर अंकित की तेरहवीं पर आयोजित शोकसभा से भाग खड़े हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल. मुख्यमंत्री द्वारा पीड़ित परिवार के लिए 5 लाख के मुआवजा की घोषणा की गयी थी जिससे अंकित के परिजन नाराज थे और उन्होंने केजरीवाल पर दोहरा मापदंड अपनाने का आरोप लगाया.

आपको बता दें की पिछले दिल्ली में हुए एमएम खान की हत्या के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने तुरंत घर जाकर पीड़ित परिवार से मुलाक़ात की थी साथ ही साथ 1 करोड के मुआवजे की भी घोषणा की थी.

अंकित के परिजनों की मुआवजे की मांग पर केजरीवाल अपने स्थान से उठकर जाने लगे लोगों के काफी कहने सुनने पर भी केजरीवाल नहीं रुके. अंकित के परिजनों की मानें तो केजरीवाल उनके घर सांत्वना देने नहीं बल्कि परिवार को अपमानित करने आये थे.

कपिल मिश्रा ने ट्वीट कर एक विडियो जारी किया है जिसमे मुख्यमंत्री केजरीवाल अंकित सक्सेना के शोक सभा से उठ खड़े हुए और वापस जाते दिखे. कपिल मिश्रा ने केजरीवाल के व्यव्हार तथा अंकित के परिवार के साथ किये जा रहे दोहरेपन पर कड़ी आपत्ति जताई है.

कपिल मिश्रा ने एक दुसरे ट्वीट केजरीवाल पर हमला करते हुए कहा की अगर अंकित का नाम अखलाक होता तो दिल्ली के मालिक सारी रात न सोता.

पुरे घटनाक्रम की वीडियो शेयर करते हुए कपिल मिश्रा ने कहा ये देश के मजहब की राजनीति का सबसे गंदा चेहरा हैं.अपने ट्वीट में कपिल मिश्रा ने एमएम खान और तंजीम अहमद का भी जिक्र किया है. इसी वीडियो में केजरीवाल के उस मुआवजे की घोषणा को भी दिखाया गया है जिसमें केजरीवाल ने एमएम खान के परिजनों को 1 करोड़ रुपये की सहायता राशि दिल्ली सरकार की तरफ से दी थी.

आपको बता दें अंकित सक्सेना एक मुस्लिम लड़की से प्यार करता था और उससे शादी करने जा रहा था. लड़की के घरवालों को यह मंजूर नहीं था जिसके कारन लड़की के परिजनों ने अंकित की सरेआम गला रेतकर हत्या कर दी थी.

LEAVE A REPLY

Print This Post Print This Post